नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी ने राजीव गांधी के एक पुराने बयान का विरोध किया है. बयान का वीडियो सामने आते ही पार्टी नेताओं की तीखी प्रतिक्रिया देखने मिली है. आम आदमी पार्टी ने बयान को सिक्खों के खिलाफ बताते हुए, सरकार से मांग की है कि राजीव गांधी को दी गई भारत रत्न की उपाधि वापस ली जाए.

Rhythm
VR
GLAXZY
Trasheen

पंजाब से आम आदमी पार्टी की सीट पर चुनाव लड़ने जा रहे है एचएस फुल्का ने सरकार से ट्वीट पर अपील की और कांग्रेस नेताओं को निशाने पर लेते हुए लिखा कि ऐसा प्रधानमंत्री जो हजारों मासूम लोगों की हत्या को सही ठहरा रहा हो, उसका भारत रत्न वापस लिया जाना चाहिए.

दूसरी तरफ आम आदमी पार्टी के नेता कुमार विश्वास ने बयान जारी करते हुए कहा है कि ‘धर्म पर मर मिटने के लिए हमेशा तैयार, जीवंत और साहसी सिख कौम के 1984 के नृशंस नरसंहार पर उस समय की कांग्रेस सरकार की बेशर्म चुप्पी और उस वक्त का राजीव गांधी का बेशर्म बयान, कि ‘एक बड़ा पेड़ गिरता है तो धरती हिलती ही है’ बहुत बड़ी बेशर्मी थी.’

सिक्खों के जख्मों पर कांग्रेस ने छिड़का नमक
कुमार विश्वास ने कांग्रेस नेताओं को भी निशाने पर लेते हुए कहा कि ‘सबसे बड़ी निर्लज्जता है आज कांग्रेस के नेताओं का उसी स्टेटमेंट को दोबारा प्रचारित किया जाना, यह वास्तव में बहुत निकृष्ट और घृणित है. अपने ही पूर्वजों द्वारा देश को दिए जख्मों पर मरहम लगाने की बजाए, उस पर नमक छिड़कने वाले संवेदनहीन, अमानवीय और अहंकारी कांग्रेस के लिए यह बयान ताबूत में आखिरी कील साबित होगी.’ जाहिर है आम आदमी पार्टी पंजाब में सत्ता की जमीन तलाश रही है. ऐसे में पार्टी सिक्खों से जुड़े किसी भी मामले में, राजनीति करने का कोई मौका गंवाना नहीं चाहती है.