मुंबई : बॉलीवुड में अपनी रीयलिस्टिक फिल्मों से अलग ही पहचान रखने वाले मशहूर फिल्म निर्देशक, निर्माता, स्क्रीन राइटर और एक्टर अनुराग कश्यप आज अपना 45 वां बर्थडे मना रहे है. अनुराग कश्यप का जन्म 10 सितंबर 1972 को उत्तरप्रदेश के गोरखपुर जिले में हुआ था. उनका बचपन और शुरूआती ज़िंदगी कई शहरों में गुजरी जैसे अनुराग ने अपनी पढ़ाई देहरादून और ग्वालियर से पूरी की थी. अनुराग बचपन में वैज्ञानिक बनने का सपना देखा करते थे, और इसी की चाह में वे दिल्ली के हंसराज कॉलेज जा पहुंचे और फिर यहीं से ग्रेजुएशन भी किया.

Rhythm
VR
GLAXZY
Trasheen

अपने ग्रेजुएशन के दौरान अनुराग स्ट्रीट प्ले ग्रुप ‘जन नाट्य मंच’ ज्वाइन कर लिया और कई नाटकों में एक्टिंग और बाकी की चीज़े की. इसी दौरान दिल्ली में उन दिनों ‘इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल ऑफ़ इंडिया’ शुरू हुआ. अनुराग ने इस फेस्टिवल में 10 दिनों में 55 फ़िल्में देखी, जिसके बाद से उन पर फिल्मकार बनने का जूनून सवार हो गया. और इस तरह अनुराग 1993 में सिर्फ 5000 हजार रूपये लेकर मुंबई के रास्ते चल पड़े. लेकिन मुंबई ऐसी जगह है जो आपके सब्र का इन्तेहान लेती है. जल्द ही अनुराग के पैसे ख़त्म हो गए, अब अनुराग के पास रहने और खाने की समस्या खड़ी हो गई, इस दौरान अनुराग ने कई महीने बेंच पर, बीच के पास और सेंट जेवियर बॉयज हॉस्टल में गुजारे.

इसी बीच अनुराग ने जुहू स्थित पृथ्वी थिएटर में काम ढूंढ लिया. लेकिन अपने पहले नाटक के मंचन से पहले उसके डायरेक्टर की मृत्यु हो गई और इस तरह उनका पहला प्ले अधूरा रह गया. इसके बाद 1995 में शिवम् नायर से मुलाक़ात के बाद अनुराग ने टेक्सी ड्राइवर से प्रेरित होकर टीवी सीरीज ‘ऑटो नारायण’ लिखना शुरू किया. लेकिन उनकी ये टीवी सीरीज भी अधूरी रह गई. फिर 1997 में अनुराग ने हंसल मेहता के लिए ‘जयते’ फिल्म लिखी लेकिन कुछ कारणों से उनकी ये फिल्म भी रिलीज़ नहीं हुई. फिर अनुराग ने सीरियल ‘कभी कभी’ के कई एपिसोड लिखे.

साल 1998 में अनुराग का नाम मनोज बाजपेई ने रामगोपाल वर्मा को सुझाया और अनुराग को ‘सत्या’ फिल्म लिखने का मौका मिला. ये फिल्म काफी सफल हुई जिसके बाद अनुराग ने ‘शूल’ और ‘कौन’ के डायलॉग्स लिखे थे. राइटिंग में अपने आपको साबित करने के बाद उन्होंने अपनी पहली फिल्म डायरेक्ट की. उनके डायरेक्शन में बनी पहली फिल्म थी ‘पांच’ हालाँकि ये फिल्म कभी रिलीज नहीं हुई. उसके बाद ‘ब्लैक फ्राइडे’, ‘नो स्मोकिंग’, ‘देव डी’, गुलाल, गैंग्स ऑफ़ वासेपुर, अग्ली, रमन राघव जैसी कई बेहतरीन फिल्मे बनाई. और बॉलीवुड में रीयलिस्टिक सिनेमा में अपनी एक अलग पहचान बनाई.

उनकी कहानी के कैरक्टर हमेशा से ग्रे शेड वाले होते है.वहीं उनकी पर्सनल लाइफ की बात करें तो अनुराग ने पहली शादी आरती बजाज से की थी उसके बाद 2009 में उनका तलाक हो गया. उसके बाद उन्होंने एक्ट्रेस कल्कि कोचलीन से शादी की. कल्कि से भी अनुराग का 2015 में तलाक हो चूका है. फ़िलहाल अनुराग अपनी अगली फिल्मों में व्यस्त है और आने वाले समय में उनके डायरेक्शन में हमें और भी कई बेहतरीन फिल्मे देखने को मिलेगी. हम अनुराग कश्यप को उनके जन्मदिन पर ढेर साड़ी बधाईयां देते है.