भुवनेश्वर।: ओडिशा के नुआपादा जिले के एक 17 वर्षीय छात्र ने 500 रुपये के बैन हो चुके पुराने नोटों से बिजली पैदा करने की तकनीक तैयार की है। खरिअर कॉलेज के लख्मण दुन्डी नाम के एक स्टूडेंट ने बताया कि वह 500 रुपये के एक पुराने नोट से 5 वोल्ट बिजली पैदा कर सकता है।

Rhythm
VR
GLAXZY
Trasheen

सूत्रों के मुताबिक लख्मण ने बताया कि, मैंने ऊर्जा पैदा करने के लिए नोट पर लगी सिलिकॉन कोटिंग का इस्तेमाल किया। मैंने नोट को फाड़ा, ताकि कोटिंग दिखाई देने लगे, मैंने उसे धूप में रखा। छात्रा का दावा है कि इस प्लेट को एक बिजली की तार के जरिए ट्रांसफॉर्मर से कनेक्ट करने से बिजली पैदा की जा सकती है।

12 अप्रैल को पीएमओ ने राज्य सरकार को पत्र लिखकर लख्मण दुन्डी के इस दावे की सच्चाई परखने के लिए कहा था। 17 मई को प्रदेश सरकार ने संबद्ध विभाग को लख्मण के प्रॉजेक्ट की स्टडी कर पीएमओ को रिपोर्ट भेजने के लिए कहा।

लख्मण ने बताया कि मैंने एक ट्रांसफॉर्मर बनाया है जो सिलिकॉन प्लेट से पैदा किए गए चार्ज को स्टोर कर सकता है। अगर पीएमओ मेरे इस इनोवेशन को पसंद करता है तो मेरे लिए गर्व की बात होगी।
उन्होंने कहा, ‘विमुद्रीकरण के बाद, मैंने प्रतिबंधित नोटों का उपयोग करने का अच्छा तरीका खोजने की कोशिश की, मैंने एक नोट फाड़ा तो उसमें सिलिकॉन प्लेट मिली। वहां से, मैंने अपना शोध शुरू किया और बिजली उत्पादन में सफल हुआ।’ लख्मण ने कहा कि उन्हें ये प्रोजेक्ट को यहां तक पहुंचने में महज 15 दिनों का समय लगा।

लख्मण दुन्डी ने अपना यह प्रॉजेक्ट अब तक सिर्फ अपने कॉलेज में दिखाया है। उसने बताया कि जब किसी ने प्रॉजेक्ट पर ध्यान नहीं दिया तो मैंने प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री को पत्र लिखा। लख्मण एक किसान का बेटा है और बल्ब बेचकर घर का खर्च चलाने में मदद करता है।