नई दिल्ली: दिल्ली में शराब की दुकानों में हो रही बढ़ोतरी के मुद्दे पर आज उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि सरकार की शहर में शराब पर प्रतिबंध लगाने की कोई योजना नहीं है। साथ ही सिसोदिया का कहना था कि आप सरकार ये नहीं चाहती कि राष्ट्रीय राजधानी में शराब की बिक्री से जमा होने वाले पैसों से शहर का प्रशासन चले। विपक्ष पर आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा कि वो (विपक्ष) जनता को धोखा देने के लिए शराब की दुकानों की संख्या से जुड़े गलत आंकड़े दे रहा है।

Rhythm
VR
GLAXZY
Trasheen

उन्होंने कहा कि ऐसा माहौल तैयार करने की कोशिश की जा रही है कि हम शराब माफिया हैं। हमने शराब की दुकानों के लिए लाइसेंस के आवंटन में भ्रष्टाचार खत्म किया और इसलिए हमें निशाना बनाया जा रहा है। हमने शराब की दुकानें मॉल में शिफ्ट कर दीं क्योंकि उनके पास असामाजिक तत्वों से निपटने की व्यवस्था है।

सिसोदिया ने कहा ‘शराब पर रोक लगाने की कोई योजना नहीं’ दिल्ली में शराब की दुकानों में हो रही बढ़ोतरी के मुद्दे पर आज उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि सरकार की शहर में शराब पर प्रतिबंध लगाने की कोई योजना नहीं है। सिसोदिया ने दावा किया कि आप सरकार आने के बाद से सिर्फ छह खुदरा दुकानें खुली हैं, जबकि शराब परोसने वाले अन्य लाइसेंसशुदा स्थानों की संख्या में दरअसल कमी आयी है।

सिसोदिया का कहना था कि मुझे यह समझ नहीं आ रहा है कि कैसे छह नई खुदरा दुकानों ने राजस्व दोगुना करने में मदद की है। एक धड़ा जानबूझ कर भ्रमित कर रहा है और गलत छवि पेश कर रहा है।

दरअसल, पिछले कुछ समय से दिल्ली सरकार, शहर में शराब की बढ़ती दुकानों को लेकर विवादों में है। विपक्षी दल बीजेपी के साथ साथ, कांग्रेस भी लगातार आप सरकार को इस मुद्दे पर घेर रही है और शराब पर प्रतिबंध लगाने की बात कह रही है।