अनंतनाग, 10 सितंबर 2017: जम्मू कश्मीर दौर के दूसरे दिन केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने अनंतनाग में पुलिस के जवानों से मुलाकात कर उनकी समस्याएं सुनीं. इस मौके पर राजनाथ सिंह शहीद ASI अब्दुल रशीद की बेटी जोहरा को याद करते हुए भावुक हो गए. राजनाथ सिंह ने कहा कि उन्होंने जोहरा की फोटो देखी, उसका आंसुओं से भीगा चेहरा देखा, दिल से उसका दर्द निकलता नहीं है.

Rhythm
VR
GLAXZY
Trasheen

राजनाथ सिंह ने जवानों की शहादत को सलाम करते हुए कहा कि जम्मू कश्मीर पुलिस के जवानों का बलिदान सर्वोच्च बलिदान है. यह बलिदान वह अपने लिए नहीं बल्कि देश, कश्मीर और कश्मीरियों के लिए दे रहे हैं. उन्होंने कहा कि शनिवार को भी हमारा एक जवान आतंकी हमले में शहीद हुआ, उनके बलिदान को सलाम करता हूं. राजनाथ सिंह चार दिवसीय जम्मू कश्मीर दौरे पर हैं और सुबह की अनंतनाग पहुंचे थे.

इससे पहले जोहरा की रोती हुई तस्वीर ट्विटर पर साझा करते हुए भारतीय क्रिकेटर गौतम गंभीर जोहरा की पढ़ाई का खर्च उठाने का ऐलान किया था. उन्होने कहा था कि ‘जोहरा मैं तुम्हें लोरी सुनाकर सुला नहीं सकता लेकिन, तुम्हारों सपनों को पूरा करने के लिए तुम्हें उठा जरूर सकता हूं, हम जीवनभर तुम्हारी पढ़ाई का खर्ज उठाएंगे’. जोहरा ने भी गंभीर का शुक्रिया अदा करते हुए बताया था कि वह पढ़े होकर डॉक्टर बनना चाहती हैं.

गौतम गंभीर से पहले सोशल मीडिया पर जोहरा की फोटो वायरल होने के बाद दक्षिण कश्मीर पुलिस के DIG ने ज़ोहरा के नाम खुला खत भी लिखा था. उन्होंने लिखा कि तुम्हारे आंसू हमारे कलेजों को झुलसा रहे हैं. तुम्हारे पिता ने जो बलिदान दिया है, वह हमेशा याद रखा जाएगा. ये क्यों हो रहा है इसकी वजह जानने के लिए अभी तुम काफी छोटी हो. जो लोग कश्मीर की शांति को बिगाड़ना चाहते हैं, उनके खिलाफ लड़ने के लिए तुम्हारे पिता के जैसे ही हम भी हमेशा तैयार हैं.