मॉडल टाउन चौक जाम करके मांगा इन्साफ
लुधियाना, 19 जून(न्यूज. डी.एन.एन नेटवर्क): फाइनांस कंपनी के करिंदों की गुंडागर्दी का शिकार होकर मरे स्कियोरिटी गार्ड कुलदीप सिंह की मौत के बाद लुधियाना पुलिस फिर से सवालों के घेरे में है। पीड़ित परिवार का आरोप है कि पुलिस ने इस मामले में शिकायत के बावजूद कोई कार्रवाई नहीं की। इसे लेकर रविवार रात को परिवार ने कुलदीप का शव थाने के बाहर रख प्रदर्शन करना शुरू कर दिया। उनकी मांग थी कि आरोपियों को गिरफ्तार किया जाए और कार्रवाई न करने वाले ए.एस.आई को सस्पेंड किया जाए।
मृतक कुलदीप सिंह के बेटे निरवैर सिंह ने बताया कि उसके पिता होटल में बतौर स्कियोरिटी गार्ड काम करते हैं। उसका कहना है कि उसके पिता ने उसे मोबाइल की दुकान खुलवाने के लिए फाइनांस कंपनी से 50 हजार रुपए का लोन लिया था। उन लोगों ने ये लोन 18 किस्तों में वापस देना था। निरैवर सिंह का कहना है कि उन लोगों ने 14 किस्तें दे दी। जबकि 4 किस्तें रहती थी। उनका आरोप है कि इसके बाद फाइनांस कंपनी के करिंदे उसके पिता को फोन पर धमकियां देने लगे। उन लोगों ने शिकायत दी, लेकिन पुलिस ने कोईकार्रवाई नहीं की। 16 जून को आरोपियों ने उसके पिता को बुरी तरह पीटा। वे फिर पुलिस के पास गए। लेकिन ए.एस.आई उन पर समझौते के लिए दबाव बनाने लगा। उसका आरोप है कि कई बार उन लोगों ने मिन्नतें की, लेकिन ए.एस.आई ने कोई कार्रवाई नहीं की। आखिरकार रविवाररात उसके पिता ने दम तोड़ दिया। उधर, सूचना मिलने पर पहुंचे ए.सी.पी बुलंद सिंह ने पीड़ितों को कार्रवाई का आश्वासन दिया, तब जाकर वे लोग वहां से हटे। अब पुलिस सोमवार को शव का पोस्टमार्टम कराएगी

Rhythm
VR
GLAXZY
Trasheen