गुरुग्राम।: प्रद्युम्न की हत्या के आरोपी कंडक्टर अशोक के पिता द्वारा स्कूल पर अपने पुत्र को फंसाने का आरोप लगाया गया। इस दौरान उन्होंने कहा कि उनका पुत्र निर्दोष है, उसे फंसाया जा रहा है. वहीं कंडक्टर की बहन का कहना था कि उनके भाई को पीटा गया, साथ ही उसे गलत बयानबाजी करने हेतु उकसाया जा रहा है। उस पर दबाव बनाया जा रहा है। आरोप लगे हैं कि स्कूल के प्राचार्य ने पुलिस विभाग को घूस दी है।

Rhythm
VR
GLAXZY
Trasheen

दूसरी ओर यह बात सामने आई है कि प्रद्युम्न की हत्या में दोषी कंडक्टर के परिजन का ग्रामीणों ने बहिष्कार कर दिया। मिली जानकारी के अनुसार रेयान इंटरनेशनल स्कूल के छात्र प्रद्युम्न की हत्या की जाॅंच हेतु पुलिस उपायुक्त, अशोक बक्शी के नेतृत्व में एसआईटी का गठन भी किया गया। जिला प्रशासन ने भी 5 सदस्यों वाली कमेटी का गठन किया, जो कि अपने स्तर पर जाॅंच करेगी। पुलिस करीब 7 दिन में चार्जशीट न्यायालय में प्रस्तुत करेगी।

एसआईटी जल्द से जल्द एक जाॅंच रिपोर्ट प्रस्तुत करेगी, उक्त जाॅंच में सुरक्षा में आने वाली लापरवाही को लेकर एक जानकारी प्रस्तुत की जाएगी। घटना को लेकर जानकारी सामने आई है कि आरोपी अशोक, वारदात को अंजाम देने के बाद गायब हो गया था। जब माली ने हंगामा किया तो वह बाहर निकला। मगर स्कूल के कुछ विद्यार्थियों ने आरोपी कंडक्टर को बाथरूम में हत्या के लिए उपयोग किए जाने वाले चाकू को धोते और साफ करते हुए देख लिया था।

इस मामले में बस चालक और सहायक से सवाल किए जा रहे हैं। जब उससे पूछताछ की गई तो उसने अपराध स्वीकार कर लिया। दूसरी ओर हरियाणा राज्य सरकार के शिक्षा मंत्री राम विलास शर्मा ने कहा कि, रेयान इंटरनेशनल स्कूल की मान्यता रद्द नहीं की जाएगी।

स्कूल में लगभग 12 हजार बच्चे अध्ययनरत हैं। इस मामले में जुवेनाईल एक्ट के तहत कार्रवाई की जाएगी। लोगों ने इस घटना के विरोध में लक्ष्मण विहार में कैंडल मार्च निकाला। अभी भी प्रद्युम्न की हत्या का विरोध किया जा रहा है।