-इसरो के रिकॉर्ड 104 सैटेलाइट लॉन्चिंग पर पीएम मोदी व राष्ट्रपति ने दी बधाई
चेन्नई। भारत ने आज एक नया इतिहास लिख दिया। भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी इसरो ने 200 हाथियों जितना वजनी सैटेलाइट लॉन्च किया। इस लॉन्च के लिए उल्टी गिनती जारी थी। इसरो के अनुसार संचार उपग्रह जीसैट-19 को अंतरिक्ष में ले जाने का 25 घंटे का काउंटडाउन चल रहा था।

इस सैटेलाइट को अंतरिक्ष में ले जाने का काम देश का सबसे भारी राकेट जीएसएलवी एमके3 कर रहा है। यह राकेट चार हजार किलो तक के उपग्रह ले जा सकता है। इस राकेट का प्रक्षेपण सोमवार की शाम को श्रीहरिकोटा से हुआ।

श्रीहरिकोटा से 120 किमी दूर दूसरे लांच पैड सतीश धवन स्पेस सेंटर से सोमवार को शाम 5.28 बजे जीएसएलवी एमके3-डी1 राकेट को लांच किया गया।

जीएसएलवी एमके3-डी1 राकेट अब 3,136 किलोग्राम वजन के उपग्रह जीसैट-19 को अंतरिक्ष में स्थापित करेगा।

इसरो के मुताबिक यह लांच मिशन की रिव्यू कमेटी और लांच एथोराइजेशन बोर्ड की मंजूरी मिलते ही हुआ। इसरो के अध्यक्ष एएस किरन कुमार ने कहा कि लांच की सभी गतिविधियां ठीक चलीं।