नई दिल्ली: अफगानिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति हामिद करजई ने बलूचिस्तान के मामले पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बयान का समर्थन किया है. भारत की यात्रा पर आए हामिद करजई ने आज तक के साथ एक्सक्लूसिव बातचीत में कहा कि बलूचिस्तान में पाकिस्तान सेना के दमन की बातें लगातार सामने आती हैं और पाकिस्तान की इस नीति का खामियाजा पड़ोस के और इलाकों के लोगों को भी उठाना पड़ रहा है.

Rhythm
VR
GLAXZY
Trasheen

आतंकवाद के मामले पर पाकिस्तान को निशाने पर लेते हुए हामिद करजई ने कहा कि पाकिस्तान आतंकियों के लिए सेफ हेवन बना हुआ है. हामिद करजई ने साथ ही कहा कि पाकिस्तान की ओर से आतंकवाद को लगातार बढ़ावा मिल रहा है, जो कि पूरे क्षेत्र की शांति के लिए खतरा है. ये किसी के भी हक में नहीं है. आतंकवाद किसी के हक में नहीं है और अफगानिस्तान , भारत, पाकिस्तान और सबको शांति के साथ मसलों का हल ढूंढना चाहिए.

मोदी के बयान का समर्थन
हामिद करजई ने कहा कि भारत के प्रधानमंत्री ने बलूचिस्तान के लोगों के संघर्ष और मानवाधिकार की बात की. यह सही है. हमें लगातार इस तरह के दमन की जानकारी मिलती है.

पाकिस्तान कर रहा दुष्प्रचार
पाकिस्तान के इन आरोपों पर कि भारत अफगानिस्तान और बलूचिस्तान का इस्तेमाल पाकिस्तान के खिलाफ दुष्प्रचार के लिए कर रहा है. हामिद करजई ने कहा कि ये गलत है. हामिद करजई ने अफगानिस्तान में पाकिस्तान की ओर से फैलाए जा रहे आतंकवाद से सख्ती से निपटने और इसमें भारत की ओर से सैन्य मदद का भी समर्थन किया.

कश्मीर के लोग लें सबक
कश्मीर के मुद्दे पर पाकिस्तान की मदद के मामले पर हामिद करजई ने कहा कि कश्मीर के लोगों को अफगानिस्तान से सबक लेना चाहिए. अफगानिस्तान पड़ोस से पहले मदद के नाम पर भेजे गए आतंकियों की सजा आज भी भुगत रहा है. पहले मदद के नाम पर पड़ोस से हस्तक्षेप हुए और आज लोगों का जानें जा रहीं हैं. पहले पाकिस्तान ने सुसाइड बॉम्बर्स भिजवाए, आतंकी भिजवाएं इसका नतीजा अब खुद पाकिस्तान भी भुगत रहा है. आतंकवाद से किसी को कोई फायदा नहीं होने वाला.

उन्होंने कहा कि कश्मीर के भाइयों और बहनों से अपील है कि वे अफगानिस्तान के लोगों के दर्द को महसूस करें. पहले लोग मदद के नाम पर हमारे देश में आए फिर आतंकवाद को बढ़ावा मिलने लगा और हम आज तक इस मुसीबत को झेल रहे हैं.

PAK में सब भारत विरोधी नहीं
सार्क बैठक के लिए पीएम मोदी के पाकिस्तान जाने की संभावनाओं पर पूछे गए सवाल के जवाब में हामिद करजई ने कहा कि पाकिस्तान में बहुत सारे लोग भारत के साथ अच्छे तालुल्कात रखने के पक्ष में हैं. खुद मियां नवाज शरीफ ऐसा चाहते हैं लेकिन कुछ इंस्टीट्यूशन नहीं चाहते कि ऐसा हो. शांति की कोशिशों को नहीं छोड़ा जाना चाहिए.

ISIS से बढ़ा खतरा
करजई ने माना कि अफगानिस्तान में आईएसआईएस का खतरा बढ़ा है. इससे मिलजुलकर निपटना चाहिए. ये पूरे क्षेत्र और लोगों की जिंदगी के लिए जरूरी है. उन्होंने आतंकवाद से निपटने में भारत की मदद की अपील की.