इस्लामाबाद, 13 सितम्बर (हि.स.)। पाक अधिकृत कश्मीर(पीओके) में सबसे ज्यादा बिकने वाले उर्दू अखबार ‘डेली मुजादाला’ के किए गए एक सर्वे के बाद पाकिस्तान सरकार ने इसपर रोक लगा दी है। यह अखबार पाक अधिकृत कश्मीर के शहर रावलकोट से प्रकाशित होता है। यह जानकारी बुधवार को मीडिया रिपोर्ट से मिली।

Rhythm
VR
GLAXZY
Trasheen

‘डेली मुजादाला’ ने पाक अधिकृत कश्मीर में रहने वाले लोगों के बीच एक सर्वे कराया था जिसमें पाकिस्तान में रहने को लेकर सवाल पूछे गए थे। इसमें करीब 74 प्रतिशत लोगों ने पाकिस्तान में रहने के खिलाफ मतदान किया जिससे पाकिस्तान में हड़कंप मच गया और पाकिस्तान सरकार की ओर से इसपर रोक लगा दी गई। वहीं इस सर्वे में करीब 5 साल लग गए।

रिपब्लिक चैनल से अखबार के एडिटर हारिस क्वादर की बातचीत हुई जिसमें उन्होंने कहा, “हमने लोगों से 2 सवाल पूछे पहला कि क्या वो 1948 के कश्मीर के स्टेटस को बदलना चाहते हैं तो ज्यादातर लोग इसपर सहमत दिखे। वहीं 73 प्रतिशत कश्मीरी पाकिस्तान से आजादी के पक्ष में नजर आए।” एडिटर ने कहा, ‘पाकिस्तान सरकार ने मेरे खिलाफ नोटिस भेजा है और मुझ पर कार्रवाई की है यहां तक कि मेरे कार्यालय को भी सील कर दिया गया है।