भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष अमित शाह ने बुधवार को भारतीय जनसंघ के संस्थापक श्यामा प्रसाद मुखर्जी की स्मृति में आयोजित एक समारोह में कहा कि, 1948 में जब पाकिस्तान समर्थित कबाइलियों के हमले का दमन किया जा रहा था, उस समय पूर्व प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ने युद्ध विराम की घोषणा नहीं की होती तो जम्मू कश्मीर का मुद्दा नहीं उठता।और आज तक लोगों को युद्ध विराम की वजह पता नहीं है। शाह ने पंडित नेहरू को जिम्मेदार ठहराया और कहा कि यदि उन्होंने देश की आजादी के बाद कश्मीर पर पाकिस्तानी कबाइलियों के हमले के समय ‘ बड़ी ऐतिहासिक गलती’ न की होती तो आज यह मुद्दा भी नहीं होता।

Rhythm
VR
GLAXZY
Trasheen