आगरा : यूपी में सरकार बदलने और योगी सरकार के सत्ता में आने का प्रभाव इस बार ताज महोत्सव पर भी नजर आएगा. पहली बार ताज महोत्सव का आगाज भगवान राम पर आधारित नृत्य नाटिका के मंचन से होने जा रहा है. 18 से 27 फरवरी तक शिल्पग्राम में आयोजित होने वाले ताज महोत्सव के उद्घाटन के लिए आयोजन समिति ने उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक और प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को आमंत्रित किया है. ताज महोत्सव के लिए शिल्पग्राम में तैयारियां भी शुरू हो गई हैं.

18 फरवरी को होगा उद्घाटन
ताज महोत्सव आयोजन समिति ने 18 फरवरी को उद्घाटन के मौके पर श्रीराम भारती कला केंद्र द्वारा भगवान राम पर आधारित नृत्य नाटिका का मंचन तय किया है तो वहीं 19 फरवरी को लोक गायिका मालिनी अवस्थी का प्रोग्राम होगा. 20 फरवरी को बॉलीवुड नाइट है. 21 फरवरी को कव्वाली गायक असलम साबरी, 22 फरवरी को पुणे का ब्लैक एंड व्हाइट ग्रुप पुराने गीतों पर आधारित प्रोग्राम पेश करेगा. 23 फरवरी को मुशायरा और 24 फरवरी को कवि सम्मेलन होगा.

27 फरवरी तक रहेंगे बॉलीवुड सितारे
कार्यक्रम में शिरकत के लिए 25 से 27 फरवरी तक बॉलीवुड कलाकारों को आमंत्रित किया गया है. जानकारी के मुताबिक ताज महोत्सव के कुछ प्रोग्राम सूरसदन और पालीवाल पार्क में भी होंगे. ताज महोत्सव आयोजन समिति ने प्रदेश के गवर्नर राम नाईक और CM योगी आदित्यनाथ को महोत्सव के उद्घाटन के लिए आमंत्रण लेटर भेज दिया है.

शुरू हुई राजनीतिक बयानबाजी
आपको बता दें कि ताज महोत्सव का ये 27वां आयोजन है. पहली बार ऐसा हो रहा है कि महोत्सव की शुरुआत श्रीराम के मंचन के साथ होने जा रही है. जिसको लेकर सूबे में सियासत भी गर्मा रही है. एक ओर जहां भाजपा श्रीराम के नाम से शुरुआत को शुभ बता रही है तो वहीं सपा इसकी घोर निंदा कर रही है. उनका कहना है कि ताजमहल दुनिया के अजूबों में से एक है इस पर राजनीति नहीं होनी चाहिए जिसकी हम निंदा करते हैं.

मंत्री जी बोले- तो क्या पाकिस्तान में होगा राम नाटिका का मंचन
आगरा में ताज महोत्सव में राम नाटिका के मंचन पर जी मीडिया ने जब योगी सरकार के मंत्री मोहसिन रजा से बात की गई तो उन्होंने कहा, अगर ताज महोत्सव में राम नाटिका का मंचन नहीं होगा तो क्या पाकिस्तान में होगा. राम हमारे आदर्श हैं. अगर विपक्ष इसका मंचन पाकिस्तान में करवा सकती है तो करवाए. तो हम भी चलेंगे उनके साथ.”