चंडीगढ़। पंजाब में आम आदमी पार्टी (AAP) के संयोजक सुच्चा सिंह छोटेपुर ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस कर अपने दिल की बात कह डाली। उन्होंने कहा कि मैंने पार्टी के लिए खून पसीना बहाया है, दिल्ली के चुनाव में अपना धन खर्च किया और अब वही पार्टी मुझे निकाल रही है।

Rhythm
VR
GLAXZY
Trasheen

उन्होंने कहा कि उन्हें साजिश के तहत फंसाया गया है और वो खुद पार्टी नहीं छोड़ेंगे। सुच्चा ने दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया पर आरोप लगाया और कहा कि सिसोदिया कोई डिप्टी सीएम नहीं बल्कि जासूस है। पंजाब के लोग और वॉलंटियर्स ये तय करें कि मैं चोर हूं या नहीं।

छोटेपुर ने कहा कि केजरीवाल मुझसे मिलने को तैयार नहीं है। मनीष सिसोदिया कोई डिप्टी सीएम नहीं बल्कि जासूस है। भाई अपने भाई का ही वीडियो बनाता है तो ये जासूसी है। उन्होंने कहा कि पार्टी में टिकट 2-2 करोड़ में बिकी हैं। 32 में से 25 कैंडिडेट करप्ट हैं और उन्होंने सरकार से हाथ मिला लिया।

उन्होंने कहा, ‘मेरी पार्टी के कुछ दोस्तों ने मेरी छवि खराब करने के लिए इल्जाम लगाए थे। ढाई साल से ‘आप’ के संयोजक की तरह काम कर रहा हूं। दिन रात पार्टी के लिए काम किया और यहां तक पहुंचाया। जिस पार्टी को सब हल्के में ले रहे थे और आज उसे सब टक्कर में मानते हैं।’ सुच्चा सिंह ने अपनी मेहनत का जिक्र करते हुए कहा कि इस पार्टी के लिए मैंने खून पसीना बहाया। वॉलंटियर्स ने बहुत मेहनत की। 24 घंटे में 18-19 घंटे पार्टी के लिए दिए। अब 1-2 लाख के स्टिंग के लिए यह सब हो रहा है। मैंने विदेशों से भी लोगों से चंदा इकट्ठा किया है।

सुच्चा सिंह ने कहा कि मैंने पहले कॉलेज में भी चुनाव लड़े। प्रधान के चुनाव लड़े। शिरोमणि अकाली दल का निर्दलीय मेंबर बना। 1985 में इलेक्शन लड़ा और अकाली दल से एमएलए बना। 40 साल तक ईमानदारी से लोगों की सेवा की। मैं जनता का आदमी हूं। कोई बड़ा आदमी नहीं हूं। उन्होंने कहा, ‘मेरे इलेक्शन लोग लड़ते हैं। किसी चुनाव में आजतक एक भी रुपया खर्च नहीं किया। 40 साल में मैने एमएलए, पार्लियामेंट तक के चुनाव लड़े। कहीं भी पैसा खर्च नहीं किया लोगों ने ही दिया। जिस पार्टी के लिए काम करता रहा, दुख के साथ कहना पड़ रहा है कि इन्होंने कभी फंड नहीं दिया।

आम आदमी पार्टी के संयोजक ने दिल्ली चुनाव में की गई मेहनत की बात कही और बताया कि उन्होंने 20 लाख से ज्यादा दिल्ली के इलेक्शन में लगाए। मैंने हर आम आदमी के लिए अपनी जेब से पैसे खर्च किए। कार्यकर्ताओं के लिए अपनी जेब से खर्च किया। मैं लोगों से पैसा लेकर अपने कार्यकर्ताओं का इलाज कराता रहा। लोगों का पैसा लोगों के लिए इस्तेमाल किया। उन्होंने मांग की कि स्टिंग को सार्वजनिक किया जाए। सीबीआई जांच कराई जाए। अगर मेरा एक भी पैसा निकलता है तो सूली पर चढ़ा दें।

पार्टी पर निशाना साधते हुए सुच्चा ने कहा कि मुझे लगा था, पार्टी मुझे अवॉर्ड देगी। पहले पार्टी पर आरोप लगता था तो डिफेंड करते थे लेकिन अब विरोधी डिफेंड करते हैं और पार्टी आरोप लगाती है। उन्होंने कहा, AAP ने कहा था कि हम सत्ता बदलने आए हैं। वाकई में इन्होंने सत्ता के मायने बदल दिए हैं। मेरे अपने दोस्तों ने मेरे खिलाफ बहुत साजिश की। मुझे इस प्रेस कॉन्फ्रेंस के लिए मजबूर किया।

मीडिया पर भी नाराजगी जताई
उन्होंने मीडिया पर भी नाराजगी जताई और कहा कि इलेक्ट्रॉनिक मीडिया से बहुत गिला है। मेरी खबरों को गलत तरह से पेश किया गया। सुच्चा सिंह ने कहा कि राजनीति मेरा पेशा नहीं, मैं यहां सिर्फ सेवा के लिए आया था।