पटियाला, (न्यूज़ DNN नेटवर्क) :पंथ रतन जत्थेदार गुरचरण सिंह टोहड़ा के दामाद बेटी के परिवार समेत शिरोमणि अकाली दल छोड़कर आम आदमी पार्टी में जाने के विरोध में स्वर्गीय जत्थेदार टोहरा के करीबी साथियों व गांव वासियों ने भारी विरोध करते हुए परिवार के सामाजिक बायकॉट की चेतावनी दी है। इस बात का उल्लेख गांव टोहडा में मीडिया को संबोधित करते हुए जत्थेदार टोहड़ा के करीबी रहे शिरोमणि कमेटी के सदस्य सतविंदर टोहडा ने की।

Rhythm
VR
GLAXZY
Trasheen

पंथरतन जत्थेदार गुरचरण ङ्क्षसह टोहड़ा के दामाद बेटी के परिवार समेत शिरोमणि अकाली दल छोड़कर आम आदमी पार्टी में जाने के विरोध में आज गांव बासियों के साथ बाबा दीदार, करनैल सिंह, सुबेदार ईश्वर सिंह और गांव वासियों ने पंथ रतन टोहड़ा की याद में बने यादगारी पार्क में एकत्र हुए।

उन्होंने टोहरा परिवार पर निशाना साधते हुए टोहरा परिवार पर अपने निजी प्रयोग के लिए जत्थेदार टोहरा की सोच को बेचने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि यह शर्मनाक स्थिति है कि पंजाब के सिख विरोधी पार्टी रही आप पार्टी की झोली में टोहरा परिवार जाकर गिर गया है। गांव वासियों ने टोहरा की याद में बने खेल स्टेडियम मैदान को जोतकर धान की फसल लगाकर उनके संस्कर स्थल पर बने पार्क का बुरा हाल करने की निदां की।

गांव में पंथरतन की यादगारी को मटियामेट करने में खुद उक्त परिवार को इसके लिए जिम्मेवार बताया है। गांव वासियों ने सिख कौम की उन्नति के लिए काम करने वाले जथेदार टोहरा पंथ रतन है न कि परिवार रतन। आज भी टोहरा परिवार को पंथ वरोधी पार्टी में शामिल होने की गलती के लिए तुरंत सिख कौम से माफी मांगनी चाहिए।