-गिरोह में कुल 4 सदस्य, 1 फरार आरोपी तलाश में जुटी पुलिस
-शिमलापुरी के सन्नी को बेचते थे चोरी के कीमती मोबाइल फोन
-महंगे मोबाइल फोन वाले यात्री को बनाते थे शिकार
लुधियाना, 9 मई (न्यूज, डीएनएन नैटवर्क): जालंधर में मोबाइल चोरी की घटनाओं को अंजाम देकर बदनाम हुआ गिरोह लुधियाना रेलवे स्टेशन पर आकर सक्रिए हो गया। गिरोह के कुल 4 सदस्य हैं, जिममें से 3 को थाना जी.आर.पी. की पुलिस ने काबू किया है। जबकि 1 सदस्य फरार होने में कामयाब हो गया। पुलिस ने पकड़े आरोपियों से पूछताछ के दौरान चोरी किए हुए 7 कीमती मोबाइल फोन व 1 कमानीदार चाकू भी बरामद किया है। फिलहाल पुलिस तीनों आरोपियों को अदालत में पेश करके इनका रिमांड हासिल करेगी ताकि आरोपियों से और रिक्वरी की जा सके। पकड़े गए आरोपियों की पहचान विजय कुमार, राजू कुमार व सुरिन्द्र कुमार उर्फ लक्की है, जबकि फरार हुए आरोपी की पहचान विक्की है। जिसकी तलाश की जा रही है।
पत्रकार सम्मेलन के दौरान जी.आर.पी. के एस.एच.ओ. इंद्रजीत सिंह ने बताया कि स्टेशन से उनको यात्रियों की तरफी से मोबाइल चोरी होने की काफी शिकायतें मिल रही थी। इसके बाद उन्होंने ए.एस.आई. सुखदेव सिंह, बलविन्द्र सिंह व रतन लाल की टीम गठित की। पुलिस ने आरोपियों को उस समय गिरफ्तार किया जब वह स्टेशन पर भीड़-भाड़ वाली जगह पर दिखे और जिन पर शक होने के बाद उन्हें पूछताछ के लिए लाया गया, पूछताछ के दौरान आरोपियों ने कबूला कि वह यात्रियों के मोबाइल चोरी करते हैं। इसके बाद आरोपियों के पास से चोरी के मोबाइल बरामद कर लिए गए।
-जालंधर में बदनाम होने पर लुधियाना आया गिरोह
एस.एच.ओ इंद्रजीत सिंह ने बताया कि चारों आरोपियों पर पहले भी चोरी के कई मामले जालंधर में दर्ज हैं। इनमें विजय कुमार पर थाना डिवीजन नंबर-4 में तीन, राजू कुमार पर जी.आर.पी. जालंधर में 2 व सुरिन्द्र कुमार पर लाडोवाल के थाने में चोरी का मामला दर्ज है। इसके अलावा पुलिस को पूछताछ में पता चला कि उक्त चोर गिरोह जालंधर चोरियों की वारदातें करके काफी बदनाम हो चुका था, इसलिए यह गिरोह लुधियाना में आकर सक्रिए हो गया।
-लुधियाना शिमलापुरी के सन्नी को बेचते थे चोरी के मोबाइल फोन
पुलिस को आरोपियों से पूछताछ में पता चला है कि यह गैंग रेलवे स्टेशन पर आने वाले हर यात्री पर पहले से ही निगाह रखता था, गिरोह पहले यात्री को देखता था कि उसके पास कैसा मोबाइल है, अगर उसके पास महंगा मोबाइल फोन है तो वो ही इनका शिकार होता था। जब यह गिरोह मोबाइल फोन चोरी कर लेता था तो उसके बाद चोरी किए हुए मोबाइल फोनों शिमलापुरी में किसी सन्नी नामक युवक को बेचते थे। पुलिस अनुसार सन्नी को भी ट्रेस कर लिया गया है, जिसे पकड़ने के लिए पुलिस द्वारा छापामारी की गई, लेकिन सन्नी अभी फरार बताया जा रहा है।
-सी.सी.टी.वी में सामने आई एक आरोपी की करतूत
एस.एच.ओ. ने बताया कि पकड़े गए तीनों आरोपियों में से एक आरोपी की सी.सी.टी.वी फुटेज भी सामने आई है, जिसमें यह एक यात्री के कंधे से हाथ आगे करके उसकी जेब पर रखता है और दूसरे हाथ की सफाई से यात्री की ऊपर वाली जेब में रखा हुआ मोबाइल फोन उड़ा कर फरार हो जाता है।

Rhythm
VR
GLAXZY
Trasheen