चंडीगढ़, 13 सितम्बर (हि.स.)। पटियाला की एक अदालत ने खालिस्तानी आतंकवादी हरमिंदर सिंह मिंटू को विस्फोटक बरामदगी मामले में बरी कर दिया है। लगातार यह दूसरा मामला है जिसमें पुलिस की गलत पैरवी के चलते मिंटू बरी हुआ है। अब मिंटू नाभा जेल ब्रेक मामले में ही जेल में रहेगा।

Rhythm
VR
GLAXZY
Trasheen

पटियाला जिले के नाभा पुलिस ने वर्ष 2010 में इंडियन आयल प्लांट के निकट बम रखने के आरोप में केएलएफ आतंकी हरमिंदर सिंह मिंटू व साथियों को गिरफ्तार किया था। बाद में पुलिस ने एक अन्य मामले में मिंटू को नामजद करते हुए कहा कि बम रखने के अलावा कुछ विस्फोटक उक्त आतंकियों ने अपने पास रख लिया था। यह दोनों मामले पटियाला की अदालत में चल रहे थे।

बम रखने के मामले में करीब दो माह पहले ही मिंटू को बरी कर दिया गया था। पुलिस की गलत पैरवी के चलते आज विस्फोटक रखने के मामले में भी मिंटू को बरी कर दिया गया। पुलिस अथवा सरकारी वकील अदालत में बेहतर ढंग से इस मुद्दे पर प्रमाण पेश नहीं कर सके। अब केएलएफ आतंकी मिंटू नाभा जेल ब्रेक मामले में ही सलाखों के पीछे रहेगा।