पोर्ट आफ स्पेन: भारतीय कप्तान विराट कोहली ने कहा है कि निचले क्रम के बल्लेबाजों विशेषकर विकेटकीपर रिद्धिमान साहा का बेहतर बल्लेबाजी प्रदर्शन वेस्टइंडीज में टेस्ट श्रृंखला 2-0 से जीतने के दौरान सबसे फायदे की चीज रहा। क्वींस पार्क ओवल में मैदान गीला होने के कारण चौथा और अंतिम टेस्ट ड्रा होने के बाद कोहली ने कहा कि टीम श्रृंखला के नतीजे से संतुष्ट है।

Rhythm
VR
GLAXZY
Trasheen

कोहली ने कहा, ‘‘यह हमारे लिए काफी अच्छा दौरा रहा। हम यहां कुछ क्षेत्रों में सुधार करने के इरादे से आए थे और हम ऐसा करने में सफल रहे। मेरे लिए सबसे सकरात्मक चीज निचले क्रम में रिद्धिमान साहा का रन बनाना और आर अश्विन का छठे नंबर पर अच्छी बल्लेबाजी करना रहा।

साहा और अश्विन दोनों ने तीसरे टेस्ट में शतक जड़कर भारत को बेहद खराब शुरूआत से उबारा था जिसके बाद टीम मैच भी जीतने में सफल रही। कोहली ने कहा, ‘‘उम्मीद करता हूं कि हम खेल के इस पहलू में सुधार जारी रखेंगे क्योंकि कुछ चीजें टेस्ट क्रिकेट में काफी मायने रखती हैं।

जब भी टीमें टेस्ट क्रिकेट में लगातार अच्छा प्रदर्शन करती हैं तो उनका निचला क्रम हमेशा योगदान देता है इसलिए हमें अपने इन क्षेत्रों को मजबूत करना होाग। वर्षा से प्रभावित चौथे टेस्ट में सिर्फ 22 ओवर फेंके जा सके लेकिन भारतीय टीम के चयन ने एक बार फिर हैरान किया।
मुरली विजय और चेतेश्वर पुजारा दोनों को अंतिम एकादश में शामिल किया गया क्योंकि भारत श्रृंखला में पहली बार चार गेंदबाजों के साथ उतरा।

कोहली ने इस फैसले के पीछे का कारण बताते हुए कहा, ‘‘हमने गाले :पिछले साल श्रीलंका दौरे पर: में टेस्ट गंवाया था जब हम एक कम बल्लेबाज के साथ खेल रहे थे। यहां तक कि दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ घरेलू श्रृंखला में कुछ मौकों पर बल्लेबाजों की कमी के कारण हम जूझ रहे थे। इसलिए हम इस संयोजन को आजमाना चाहते थे, हालांकि यहां मैच नहीं हुआ।

उन्होंने कहा, ‘‘अगर हम घरेलू मैदान पर चार विशेषज्ञ गेंदबाजों के साथ उतरते हो तो हमें शायद पांचवें गेंदबाज की जरूरत नहीं पड़ेगी क्योंकि अगर आप स्वदेश में तीन विशेषज्ञ स्पिनरों के साथ खेलेेंगे तो वे संभवत: आपके लिए काम कर देंगे। इसलिए हमने सोचा कि अगर हम दो स्पिनरों और दो तेज गेंदबाजों के साथ भी खेलते हैं तो रोहित और विजय 10 अतिरिक्त ओवर फेंक सकते हैं। विदेशी सरजमीं पर आपको अपने सभी सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजों की जरूरत होती है क्योंकि आपको नहीं पता कि विकेट कैसा बर्ताव करेगा।

आईसीसी रैंकिंग में शीर्ष पर बने रहने का मौका गंवाने पर कोहली ने कहा, ‘अगर पाकिस्तान नहीं जीतता, हमारा पिछला मैच ड्रा हो जाता तो रैंकिंग एक बार फिर अलग होती। यह छोटे समय के लिए ही है क्योंकि हमें पता है कि अंक तालिका में काफी करीबी प्रतिस्पर्धा है। इसलिए एक टीम के रूप में हमें लगता है कि हम इस सत्र के बाद अपना आकलन कर सकते है, किसी एक टेस्ट के बाद नहीं।