वारसा : रियो ओलंपिक में रजत पदक जीतने वाले पोलैंड के चक्का फेंक खिलाड़ी पिओत्र मालाचोवस्की ने कैंसर से पीड़ित तीन साल के एक बच्चे के इलाज के लिए इस हफ्ते अपना पदक नीलाम कर दिया।

Rhythm
VR
GLAXZY
Trasheen

33 साल के विश्व चैंपियन ने अपने फेसबुक पेज पर लिखा कि ओलेक नाम के इस लड़के की मां ने उन्हें एक पत्र भेजा था, जिसे पढ़ने के बाद उन्होंने अपना पदक नीलाम करने का फैसला किया। उसकी मां ने पत्र में लिखा था कि ओलेक पिछले दो साल से आंख के कैंसर से जूझ रहा है और न्यूयार्क में किया जाने वाला इलाज उसके लिए एकमात्र उम्मीद है।

मालाचोवस्की ने पहले नीलामी की घोषणा करते हुए लिखा, ‘मैं रियो में स्वर्ण पदक के लिए खेला था। आज मैं सब से उससे भी कहीं ज्यादा अनमोल चीज के लिए लड़ने की अपील करता हूं।’

उन्होंने लिखा, ‘अगर आप मेरी मदद करेंगे तो मेरा रजत पदक ओलेक के लिए स्वर्ण से भी ज्यादा कीमती बन सकता है।’ चक्का फेंक खिलाड़ी ने बाद में पदक का खरीददार मिलने की बात कहते हुए लिखा, ‘मैं सफल रहा।