नई दिल्ली: इस शुक्रवार अभिनेत्री कंगना रनौत की फिल्म ‘सिमरन’ रिलीज होने जा रही है, मगर कंगना अपनी फिल्म से ज्यादा अपनी पर्सनल लाइफ की वजह से चर्चा में हैं। हाल ही में कंगना ने इंडिया टीवी को दिए एक इंटरव्यू में आदित्य पंचोली को गुंडा कहा था और कई संगीन आरोप लगाए थे, इस इंटरव्यू पर चुप्पी तोड़ते हुए आदित्य के बेटे सूरज पंचोली ने काफी कुछ कहा। बतौर सूरज, जब कंगना से पापा का अफेयर था उस वक्त में 14-15 साल का था। मुझे ज्यादा समझ नहीं थी लेकिन मेरा मां जरीना वहाब सब कुछ जानती थी। ये हमारे परिवार के लिए काफी बुरा वक्त था।

Rhythm
VR
GLAXZY
Trasheen

हाल ही में आदित्य पंचोली ने भी कंगना को लेकर कहा था कि वो एक पागल लड़की है। मैं उस पर लीगल ऐक्शन लूंगा। हम इतने समय से इंडस्ट्री में हैं किसी ने कुछ नहीं कहा। उसके लिए पूरी दुनिया में सब विलेन हैं सिर्फ वही अच्छी है। आदित्य न यह भी कहा था कि इस इंटरव्यू से मैं काफी आहत हूं। हालांकि मुझे उसकी चिंता भी है क्योंकि वो अच्छी ऐक्ट्रेस है। भगवान ने उसे काफी कुछ दिया है उसे शुक्रगुजार होना चाहिए और सभी के साथ अच्छे से रहना चाहिए।

बता दें कि कुछ समय पहले ही कंगना ने इंडिया टीवी को दिए इंटरव्यू में कहा था, मैं नई-नई मुंबई आई थी, मेरे साथ एक दोस्त भी थी जो मेरी मां की उम्र की थी। मैंने उनसे (आदित्य पंचौली) से कहा हम दोनों के लिए एक रेंट अपार्टमेंट दिलवा दीजिए। मुझे एक अपार्टमेंट तो दिलवाया मगर वहां मेरी फ्रैंड को आने नहीं दिया। मुझे हाउस अरेस्ट कर लिया। कंगना ने कहा जब इतना कुछ हुआ तो मैं उनकी वाइफ (जरीना वहाब) से मिलने गई। मैंने उन्हें बताया किस तरह ये आदमी मुझे परेशान करता है। मैंने कहा उनकी बेटी भी मुझसे एक साल बड़ी है। कंगना ने कहा मैंने उनकी वाइफ से कहा मैं इसे अच्छा इंसान समझती थी। तो उनकी वाइफ ने मुझसे कहा, देखिए हम लोग बहुत खुश हैं, क्योंकि जब ये घर पर नहीं होता है तो सुकून होता है। क्योंकि जब ये होता है तो घर में जो काम करने वाली है या जो बच्चे हैं, उन्हें मारता-पीटता है। हमारे घर में अभी शांति का वातावरण है इसलिए मैं कुछ नहीं कर सकती। कंगना ने कहा जब उनसे (जरीना वहाब) से मुझे कोई मदद नहीं मिली तो मैंने पुलिस से मदद ली।

कंगना ने आगे बताया कि उसकी बेटी मेरी उम्र की थी मुझे उस आदमी से डर लगने लगा था, उसने मेरे घर की डुप्लिकेट चाभी बनवाई थी। कंगना ने कहा मुझे फर्स्ट फ्लोर से कूदकर वहां से जाना पड़ा। मुझे काफी चोट लगी थी, मगर मैंने भागकर रिक्शा लिया। अगले दिन होटल में चेक इन किया मगर सुबह किसी ने मेरे रूम की बेल बजी। मैंने की-होल से झांककर देखा तो वो बंदा (आदित्य पंचौली) सामने खड़ा था। उसने मुझे वहां भी ट्रैक कर लिया। मैं कहां तक भाग सकती थी। एक बार मैं जब ‘लाइफ इन अ मेट्रो’ की शूटिंग कर रही थी तो मेरे पास फोन आया, वो बंदा फोन पर मुझे धमकाने लगा, गालियां दे रहा था। मैं शूटिंग करके लौट रही थी तो उसने गाड़ी से मेरे रिक्शा का पीछा किया और मुझे रोकने की कोशिश की। कंगना ने कहा मैंने अपनी फिल्म के डायरेक्टर अनुराग बासु को फोन किया। उन्होंने और उनकी पत्नी ने मुझे 15 दिन अपने ऑफिस में छिपाकर रखा, लेकिन वो लोग भी क्या करेंगे। अनुराग की पत्नी मेरे लिए कुछ कपड़े भी खरीदकर लाई थी। दोस्त मदद करते थे, लेकिन आपको गुंडों से निपटने के लिए पुलिस की जरूरत पड़ती है।

कंगना ने आगे कहा, मैं पुलिस के पास गई तो उसने (आदित्य पंचौली) ने मुझे धमकाया कि तुम पुलिस के पास गई तो तुम्हारा करियर खराब हो जाएगा। तुम फ्लॉप हो जाओगी, कोई तुम्हें नहीं पूछेगा। कंगना ने कहा मैं डरी नहीं, मैंने पुलिस के पास जाकर एफआईआर करवाई और मेरा करियर जीरो हुआ भी, मगर मैंने फिर से शुरूआत की। कंगना ने बताया ये सिर्फ मेरी नहीं हर लड़की की प्रॉब्लम है। लड़की को कहा जाता है कि तुम्हारे साथ हादसा हुआ तो तुमने ही गलती की होगी। इसलिए मैं इस मामले को पब्लिक में नही लाना चाहती थी, क्योंकि इससे मेरे घरवाले परेशान हो जाते। लेकिन मुझे मजबूरन पुलिस के पास जाना पड़ा। खैर पुलिस ने काफी अच्छा एक्शन लिया, उसपर (आदित्य पंचौली) पहले से ही कई केस थे, तो पुलिस ने उसे धमकाया कि तुमने इस लड़की को कुछ कहा तो तुम तुरंत जेल जाओगे। उसके बाद उसने मुझे तो कुछ नहीं कहा लेकिन मीडिया में मेरे बारे में काफी कुछ कहा। कंगना ने बताया कि मैंने आदित्य पंचौली को पैसे भी दिए थे। फिर भी उन्होंने मीडिया में मेरे बारे में काफी कुछ बोला, लेकिन पुलिस की मदद से वो चैप्टर क्लोज हो गया।