वाशिंगटन: अमरीका में 209 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार की तेज हवाओं के साथ फ्लोरिडा राज्य की ओर बढ़ रहा इरमा चार श्रेणी के तूफान में तब्दील हो गया है और हजारों भारतीय-अमरीकियों समेत लाखों लोग तूफान के लिए तैयार हो रहे हैं।

Rhythm
VR
GLAXZY
Trasheen

वर्ष 2010 की जनगणना के अनुसार, फ्लोरिडा में भारतीय मूल के अमरीकी लोगों की आबादी करीब 120,000 है जिनमें से हजारों लोग मियामी, फोर्ट लोरा डील और टम्पा में रहते हैं जो तूफान के लिहाज से खतरनाक हैं। इस बीच, कैरिबियाई द्वीप सेंट मार्टिन से करीब 60 भारतीय नागरिकों को निकाला गया है। इरमा ने इस द्वीप पर काफी तबाही मचाई है। ज्यादातर भारतीय नागरिकों के पास अमरीका का अस्थायी छोटी अवधि का ट्रांजिट वीजा है। जिन लोगों के पास ट्रांजिट वीजा नहीं है उनके लिए यहां भारतीय दूतावास विदेश मंत्रालय और होमलैंड सुरक्षा विभाग के साथ मिलकर उन्हें वीजा उपलब्ध कराने पर काम कर रहा है ताकि उन्हें विमान से अमरीका भेजा जा सकें और वहां से वह स्वदेश लौट सकें।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, अमरीका की राष्ट्रीय मौसम सेवा ने बताया कि इस खतरनाक तूफान के स्थानीय समयानुसार सुबह करीब 7 बजे अमरीकी भूभाग पहुंचने की आशंका है। इससे फ्लोरिडा में आज बारिश हुई। इरमा के नजदीक पहुंचने के साथ ही 127 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलने लगी है। घरों को छोड़ने के आदेश के बाद लोगों के सुरक्षित स्थानों पर जाने से मियामी और टम्पा में सन्नाटा पसरा रहा।