-अखबारों और सोशल मीडिया में चल रही चर्चा को बताया झूठ
-हर नेता व वर्कर बखूबी निभा रहा अपनी जिम्मेवारी- भगवंत मान
चंडीगढ़ : पिछले कुछ दिनों से अखबारों और सोशल मीडिया में चल रही चर्चा कि आम आदमी पार्टी के सीनियर नेताओं ने पंजाब के कुछ नेताओं संबंधी काली सूची तैयार की है और उनको पार्टी की गतिविधियों से एक तरफ किया जा रहा है, का पार्टी ने खंडन किया है. पार्टी ने इसको बे-बुनियाद, झूठ और विरोधी पार्टियों की एक साजिश करार दिया है।

Rhythm
VR
GLAXZY
Trasheen

मीडिया में जारी एक बयान में वीरवार को आम आदमी पार्टी के पंजाब के इंचार्ज संजय सिंह ने कहा कि हमारे राजनैतिक विरोधियों द्वारा लोगों में यह भ्रम पैदा करने की कोशिश की जा रही है कि पंजाब के कुछ नेताओं जिनमें पार्टी के प्रवक्ता व आरटीआई विंग के प्रमुख सुखपाल सिंह खैहरा, पंजाब डायलॉग टीम के प्रमुख व प्रवक्ता कंवर संधू और एडमिनिस्ट्रेटिव व शिकायत सेल के प्रमुख जसबीर सिंह बीर शामिल हैं, को पार्टी की गतिविधियों से एक तरफ किया जा रहा है। यह एक झूठी अफवाह के अलावा और कुछ भी नहीं है।

उन्होंने कहा कि खैहरा द्वारा लोगों की आवाज बुलंद करने के चलते आम लोगों में उनकी लोकप्रियता से घबराए विरोधी ऐसी अफवाहें फैला रहे हैं। कंवर संधू संबंधी संजय सिंह ने कहा कि पार्टी का चुनाव घोषणा पत्र बनाने वाली समिति के प्रमुख संधू ही हैं। एक अच्छे प्रवक्ता के तौर पर देश-विदेश के लोगों में संधू की लोकप्रियता को देखते हुए विरोधी अब झूठा प्रचार करके उनकी लोकप्रियता को कम करने की कोशिश कर रहे हैं.

इस मौके पर संगरूर से सांसद भगवंत मान ने कहा कि जसबीर सिंह बीर और अन्य नेता पार्टी के लिए अपनी अहम् भूमिका निभा रहे हैं और उनके योगदान को कम करके नहीं आंका जा सकता। मान ने कहा कि पार्टी की काली सूची की बात विरोधियों की साजिश है और इसको गंभीरता के साथ नहीं लिया जाना चाहिए।